Full story of my life...._ myself a half writer...

तेरे जाने के बाद मै, लम्हा- लम्हा महब -ए - यासी में रहा।
उम्र भर नशे में खुशियां गवाई, मुझे होश उदासी में रहा।।

_satyendr@✍️

(महब -ए-यासी= दर्द में खोया रहना)

વધુ વાંચો

कितना खामोश है मंजर, मगर दिल में तूफ़ान क्यों है।
शायद ये इश्क़ है 'सत्येंद्र", मगर ये इतना परेशान क्यों हैं?.....

વધુ વાંચો

ज़िन्दगी हम ऐसे जिए, कभी आग से खेले कभी पानी बना दिया,
कमबख्त इश्क ने क्या मारा हमे, खाकिस्तर ने ही जला दिया...✍️✍️

खाकिस्तार= राख़

વધુ વાંચો