नमस्कार! मात्र आप से जुड़ने  हेतु यह मेरा प्रयास है। मूलतः एक इंजीनियर के रूप में अनेक पुस्तक लेखन, लेख, अनुवाद, रेेडियो वार्ता का अवसर मिला। आजकल तकनीकी शिक्षा, उद्यमिता एवम् व्यक्तित्व विकास आदि में सलाहकार होने के साथ आम बोलचाल की भाषा में कुछ कहानियां बुन ही लेता हूं, जो मातृभारती के माध्यम से आप तक पहुंचती हैं । जनवरी 2020 में मुझे मातृभारती रीडर्स चॉइस अवार्ड मिला ।  आशा है आपका प्यार सतत मिलेगा क्योंकि छोड़ने के सैकड़ों कारण होने के बावजूद भी आप न छोड़ने का एक कारण तो ढूंढ ही लेंगे।

    • 365
    • 234
    • 454
    • (12)
    • 538
    • 345
    • (13)
    • 569
    • (14)
    • 467
    • (17)
    • 480
    • (16)
    • 586
    • (25)
    • 583