Lifeline-Loveline

*"अहंकार और सँस्कार"*
*में फर्क है*
*अहंकार दूसरे को झुकाकर*
*खुश होता हैं*
*और*
*सँस्कार स्वयं झुककर*
*खुश होता हैं*

વધુ વાંચો

*पसंद हमारी लाजवाब*
*ही हुआ करती है..!*

*उदाहरण आप अपना*
*ही ले लीजिये ना..!!*

*જીવશો ત્યાં સુધી.....*
*ઠોકરો તો લાગ્યા જ કરશે,*
*પણ ઉઠવું તો એકલા જ* *પડશે.*
*કેમ કે.....*
*જ્યાં સુધી શ્વાસ ચાલે છે ત્યાં* *સુધી*
*કોઈ ખંભો દેવા નહીં આવે*

વધુ વાંચો

👌👌👌

epost thumb

*शब्द और सोच*
*दूरियां बढ़ा देते है,*
*क्योंकि.....*

*कभी हम समझ नहीं पाते,*
*और कभी हम समझा नहीं पाते.*

*મોડું સમજાયેલું સત્ય,*
*તાળું તોડ્યા પછી ચાવી મળ્યા જેવું છે.*

😜😜😜

*_ज़रा अदब से उठाना इन बुझे दियों को....._*
*_इन्होंने कल रात सबको रोशनी दी थी....._*
*_किसी को जला कर खुश होना अलग बात है, इन्होंने खुद को जला कर रोशनी की थी....._*

વધુ વાંચો

❣❣❣

epost thumb

*कलम तभी साफ़ और अच्छा*
*लिख पाती है जब*
*थोड़ा झुक कर चलती है..!*

*वही हाल "जिंदगी" में*
*इंसान का है..!!*

વધુ વાંચો