कहां से लाऊं वो शब्द "कान्हा" जो तुम्हें बता सकें कि मैं शायर कम तेरी दिवानी ज्यादा हूँ ।

#सामान

मेरी बैचैन सी जिन्दगी में दो पल का आराम हो तुम ,,,

मेरे जीने के लिए जो बहुत जरूरी है वो सामान हो तुम !!

✍️ गीता परमार.. 😉😉😍😘

વધુ વાંચો

हमको , किसके गम ने मारा __ये कहानी फिर सही ।

किस ने तोड़ा दिल हमारा _ _ _ ये कहानी फिर सही ।

✍️ गीता परमार..

कितनी "झूठी" होती है..
"मोहब्बत "की
" कसमें "..." साहब "

" खा "के में " शर्मिंदा "हूँ,,,

देखो उधर " तुम " भी " जिन्दा "
हो... इधर " मैं "भी " जिन्दा "हूँ...!!

વધુ વાંચો

#આડુઅવળું

कोई अंजाना सा चेहरा ख्यालों में आता है,
मेरे ख्वाबों में आकर वो मेरी नींदे चुराता है,

✍️ गीता परमार..

टेढ़ी - मेढी़ शक्लें बनाकर मुझको हँसाता है ,
अपनी मनमानी करके मुझे खूब सताता है.!!

વધુ વાંચો

.... क्या खूब लिहाज रखा है....
हम दोनों ने मोहब्बत का.........

.... जब दिल की बात कहनी....
हो तो शायरी_शायरी खेलते हैं..... ✍️ गीता परमार..

વધુ વાંચો

कभी-कभी
मैं और मेरी तन्हाईं
आपस में बातें करते हैं 🙄
की अब किसको जाकर परेशान करना है.. *😂😂😂😀😀😀🙈🙈🙈

#ઉત્સાહી

तेरे आने कि आहट से उत्साहित हो उठा ये मन ,

दर पर निगाहें बिछाये बैठे हैं, बढने लगीं है धड़कन..!!

✍️ गीता परमार..

વધુ વાંચો

फिर रुक कर बुलाना मुमकिन नहीं था
रंजिश में रिश्ता निभाना मुमकिन नहीं था ,

ये दूरियाँ फ़क़त तेरे मेरे दरमियाँ रहीं
पर तुम्हें भूल जाना मुमकिन नहीं था..!!

✍️ गीता परमार..

વધુ વાંચો

"कहते हैं ऊपर वाले ने हर किसी के लिए
किसी ना किसी को बनाया है...

कहीं मेरे वाले ने आत्महत्या तो नहीं करली 😰
पगला मिल ही नहीं रहा... 😂😂

✍️ गीता परमार..

વધુ વાંચો

चलो छोड़ो ये बहस की वफा किसने की और बेवफा कौन है ??
तू तो ये बता कि आज तन्हा कौन है ??

✍️ गीता परमार..