Hey, I am on Matrubharti!

शुभ सवार?

? हस्ते हुए चेहरों को गमों से आज़ाद ना समझो,,
मुस्कुराहट की पनाहों में हज़ारों दर्द होते हैं ?

? ज़िन्दगी हर पल ख़ास नहीं होती,
फूल की खुशबू हमेशा पास नहीं होती,
मिलना तो हमारे तक़दीर में लिखा था,
वरना इतनी प्यारी दोस्ती इतफाक़ से नहीं होती।।?

વધુ વાંચો

હે નશીબ, લાવ તારા પગે મલમ લગાવી આપું,
કોઈ મોચ તને પણ આવી હશે મારા સપનાંઓને
ઠોકર મારતાં મારતાં.....

सामान बाँध लिया है हमने भी
अब बताओ कहाँ रहते है , वो लोग जो कही के नही रहते

एहसास-ए-इबादत के लिए बस इतना ही काफी है......?
तेरे बगैर भी, हम तो तेरे ही रहते हैं......?
.शामिल हो तुम मेरे हर सजदे में......?
कभी होठों की मुस्कराहट में......?
कभी आखों के पानी में......?

વધુ વાંચો

?बहुत ख़ास थे कभी
नज़रों में किसी के हम भी,
मगर नज़रों के तकाज़े
बदलने में देर कहाँ लगती है।?