टिकटें लिए बैठें हैं लोग मेरी ज़िंदगी की, तमाशा भी पूरा होना चाहिए!

जिस पनघट के नीर से, सदा बुझायी प्यास !
उसका भूले से कभी, …मत करिए #उपहास !!

कहाँ मिली हैं खूबियाँ, …सभी किसी के पास !
फिर क्यों हम कमजोर का, करते हैं #उपहास !!

उसे दोष मत दीजिये, मत करिए #उपहास !
एक दीन को है अगर, किसी मनुज से आस !!

एक दूसरे से मनुज, रखे निरन्तर आस !!
कोई है कमजोर तो, मत करिए #उपहास !!

#उपहास

વધુ વાંચો

कुछ तो चाहत होगी इन बारिशों की बूंदों की भी

वरना कौन गिरता है इस जमीन पर
आसमान तक पहुंचने के बाद....

दिलों का ज़िक्र ही क्या है मिलें मिलें न मिलें,

नज़र मिलाओ नज़र से नज़र की बात करो..!

कोई तारीख
कोई महीना
कोई मौसम
तय नहीं किया जा सकता
हमारे मिलने के लिए,
हम आने वाले इतिहास में मिलेंगे
एकांत में रहते हुए...!

વધુ વાંચો

कोई अटका हुआ है पल शायद,
वक़्त में पड़ गया है बल शायद,

दिल अगर है तो दर्द भी होगा,
इस का कोई नहीं है हल शायद...

💞

વધુ વાંચો